Krishna Janmashtami 2021 Best | श्री कृष्ण जन्माष्टमी को लेकर सजने लगे शहर के मंदिर

Krishna Janmashtami 2021

Krishna Janmashtami 2021| श्री कृष्ण जन्माष्टमी को लेकर सजने लगे शहर के मंदिर

जन्माष्टमी के लिए राज्य के कृष्ण मंदिर तैयार अहमदाबाद: राज्य सरकार ने आने वाले जन्माष्टमी और गणेशोत्सव के त्योहारों के लिए मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) की घोषणा करते हुए इस अवधि के दौरान राज्य के प्रसिद्ध मंदिरों में आने वाले लाखों भक्तों को खुशी का कारण दिया है।

द्वारका, डाकोर और श्रीकृष्ण में भगवान कृष्ण के प्रसिद्ध मंदिर .. पिछले साल जन्माष्टमी के दिन बंद किए गए थे ये मंदिर.. जन्माष्टमी या कृष्ण जन्माष्टमी हिंदुओं के सबसे महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक है। यह दिन भगवान कृष्ण के जन्म का प्रतीक है जो भगवान विष्णु के आठवें अवतार हैं।

यह दिन श्रावण के महीने में कृष्ण पक्ष (अंधेरे पखवाड़े) के आठवें दिन (अष्टमी) को पड़ता है। इस साल, त्योहार 30 अगस्त को मनाया जाएगा। उन लोगों के लिए, भगवान कृष्ण का जन्म वासुदेव और देवकी के बीच मध्यरात्रि में हुआ था और इसलिए यह उत्सव दो दिनों तक चलता है।

लोग नृत्य प्रदर्शन और नाटक के साथ जश्न मनाते हैं और कुछ लोग रास लीला या कृष्ण लीला भी याद करते हैं। भजन और भक्ति गीतों को भी महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि कृष्ण-भक्त उन्हें दही हांडी जैसे विभिन्न कार्यक्रमों के दौरान दो दिनों तक बजाते हैं।

बॉलीवुड में न केवल जन्माष्टमी बल्कि भगवान कृष्ण पर भी आधारित गीतों की एक सूची है। इतना ही नहीं बल्कि भोजपुरी इंडस्ट्री में भी इस शुभ अवसर के लिए विशेष रूप से तैयार किए गए कई ट्रैक हैं।

Krishna Janmashtami 2021
Krishna Janmashtami 2021

भगवान कृष्ण का जन्म भाद्रपद के कृष्ण पक्ष (भाद्रपद कृष्ण पक्ष) की अष्टमी के दिन हुआ था और तब से हर साल भादो के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है।

भगवान विष्णु का जन्म कृष्ण अवतार में दुनिया से बुराई और पाप को नष्ट करने के लिए हुआ था। तब से हर साल इस दिन जन्माष्टमी मनाई जाती है। इस साल जन्माष्टमी 30 अगस्त सोमवार को मनाई जाएगी। भगवान कृष्ण की पत्नी रुक्मणी देवी लक्ष्मी की अवतार थीं।

इसलिए ऐसा माना जाता है कि अगर भगवान कृष्ण की पूजा के लिए कुछ उपाय अपनाए जाएं तो उनके साथ देवी लक्ष्मी भी प्रसन्न हो सकती हैं। 30 अगस्त को मंदिर में दर्शन खुलने का समय तीन बजे होगा। सायं छह बजे संकीर्तन मंडल भजन गायन करेंगे।

श्री दुग्र्याणा कमेटी के प्रधान एडवोकेट रमेश शर्मा व महासचिव अरुण खन्ना ने बताया कि मंदिर परिसर को सजाया जा रहा है। मंदिर के चारों लाइटिग की जा रही है। उन्होंने बताया कि कोविड-19 का पूरा ख्याल रखा जाएगा। सेवादारों की ड्यूटी लगाई जा रही है।

Krishna Janmashtami 2021
Krishna Janmashtami 2021

विशेष प्रसाद का प्रबंध किया गया है। इसके अलावा रात को आतिशबाजी भी होगी। श्री शिवाला बाग भाइयां के ट्रस्टी सुरेश महाजन व बलदेव राज बग्गा ने बताया कि श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर मंदिर को सजाया जा रहा है।

श्री रघुनाथ मंदिर विजयनगर के प्रधान जोगिदर पाल सरीन व रजिदर पप्पू ने बताया कि मंदिर परिसर में रात को सकीर्तन होगा और आरती करके प्रसाद वितरित किया जाएगा। मंदिर लक्ष्मणसर चौक में इस्कान मंदिर में श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर सायं सात बजे आरती, संकीर्तन एवं प्रवचन होंगे।

रात 11 बजे महाभिषेक के बाद 108 भोग अर्पण एवं महाआरती होगी। इसी तरह इस्कान मंदिर वृंदावन में भी श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर ही धूमधाम के साथ मनाई जाएगी। भगवान श्री कृष्ण का अभिषेक किया जाएगा तथा पूजा अर्चना करके प्रसाद वितरित किया जाएगा ।

श्री कृष्ण का आशीर्वाद लेने के लिए पारिजात के फूल चढ़ाएं। इसके अलावा, शंख को दूध से भरकर कान्हा पर चढ़ाएं और देवी लक्ष्मी से भी आशीर्वाद प्राप्त करें। ऐसा करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और आपकी हर मनोकामना पूरी होती है। ये हर शुक्रवार को किया जा सकता है।

कर्ज मुक्ति के लिए जन्माष्टमी के दिन शाम को तुलसी की पूजा करें। साथ ही तुलसी की परिक्रमा 11 बार ओम नमः वासुदेवाय मंत्र का जाप करें। इससे आपको सभी कर्जों से मुक्ति मिल जाएगी। जन्माष्टमी की रात 12 बजे दूध में केसर मिलाकर भगवान कृष्ण का अभिषेक करने से घर में सुख-समृद्धि आती है और आर्थिक स्थिति मजबूत होती है।

श्री बांके बिहारी के जन्मोत्सव पर मंदिर परिसर में विशेष धार्मिक कार्यक्रम करवाए जाएंगे। श्रीराम बालाजी धाम धनु पुर काले, श्री आरती शिव दुर्गा मंदिर करतार नगर, श्री शिव मंदिर प्रेम नगर, शिवाला बोहड वाला, श्री गोपाल मंदिर कश्मीर एवेन्यू, श्री हरि मंदिर मजीठा रोड व अन्य मंदिरों में श्री जन्म कृष्ण जन्माष्टमी बड़ी धूमधाम के साथ मनाई जाएगी।

Krishna Janmashtami 2021
Krishna Janmashtami 2021

Krishna Janmashtami 2021: आर्थिक तंगी से मिलेगा छुटकारा

30 अगस्त 2021 को मनाया जाएगा। इस दिन भक्त विभिन्न प्रकार से भगवान कृष्ण की पूजा करते हैं और उनका आशीर्वाद प्राप्त करते हैं। बता दें कि भगवान श्री कृष्ण की पत्नी रुकमणी मां लक्ष्मी का अवतार मानी जाती है। इसलिए मन्यता है कि अगर आप जन्माष्टमी के दिन कुछ उपायों को अपनाते है तो आपको आर्थिक तंगी से छुटकारा मिलेगा।

जन्माष्टमी के दिन घर पर गाय या बछड़े की मूर्ति लानी चाहिए। इससे धीरे-धीरे आपकी आर्थिक स्थिति सुधरने लग जाएगी। इतना ही नहीं, संतान प्राप्ति की इच्छा रखने वाले दंपत्य के लिए भी ये उपाय फायदेमंद है। वहीं, अगर आप नौकरी में बढ़ोतरी चाहते हैं या आमदनी बढ़ाना चाहते हैं, तो जन्माष्टमी के दिन सात कन्याओं को बुलाकर खीर खिलाएं।

ऐसा आप आगे के पांच शुक्रवार तक लगातार करें। ऐसा करने से आपकी आमदनी में बढ़ेतरी होगी और आपकी आर्थिक स्थिति बढ़ेतरी होगी श्री कृष्ण का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए श्री कृष्ण पर परिजात के फूल चढ़ाएं। इसके अलावा शंख में दूध भरकर कान्हा जी पर चढ़ाएं।

इससे मां लक्ष्मी जी और कृष्ण जी का आशीर्वाद मिलेगा। ऐसा करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होंगी और हर मनोकामना पूर्ण होगी। ये उपाय हर शुक्रवार कर हर मनोकामना पूर्ण होगी।

5 उपाय जन्माष्टमी पर कर लिए तो हो जाएगी आर्थिक तंगी दूर

1] किसी भी प्रकार की आर्थिक तंगी है तो जन्माष्टमी के दिन शंख में दूध भरकर बालकृष्णजी को अर्पित करें। 

2] जन्माष्टमी पर दिन में आप गाय और बछड़े की सुंदर सी मूर्ति लाकर उसे घर में उचित जगह पर स्थापित करें। इससे धीरे धीरे आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।

3]  प्रात: स्नान आदि से निवृत्त होकर किसी भी राधा-कृष्ण मंदिर में जाकर श्री कृष्ण जी को वैजयंती के फूलों की माला अर्पण करें। वैजयंती के फूल नहीं मिले तो पीले फूलों की माला अर्पण करें। इससे आर्थिक संकट दूर होगी।

4] कर्ज के तले दबे हुए हैं तो जन्माष्टमी के दिन शाम को ओम नमः वासुदेवाय मंत्र का जाप करते हुए 11 बार तुलसी जी परिक्रमा करें। इससे आपको कर्ज से मु्क्ति होगी।

5] श्रीकृष्‍णजी को मेवा मिश्रित साबुतदाने अथवा चावल की खीर बनाकर उसका भोग लगाएं उसमें चीनी की जगह मिश्री डालें इसके साथ ही सफेद मिठाई भी अर्पित करें। इससे श्रीकृष्‍णजी का आशीर्वाद प्राप्त होगा और ऐश्वर्य की स्थिति में सुधार प्राप्ति होगा।

Krishna Janmashtami 2021: कर्ज से मुक्ति

जन्माष्टमी के दिन शाम को तुलसी जी की पूजा करनी चाहिए। साथ ही, ओम नमः वासुदेवाय मंत्र का जाप करते हुए 11 बार तुलसी जी परिक्रमा करें। इससे आपको कर्ज से मु्क्ति मिलेगी।

शुक्रवार : बन सकते हैं आप भी भाग्यशाली, शुक्रवार के इन उपायों से होंगे धनवान

 शुक्र हमारे जीवन में स्त्री, वाहन और धन सुख को प्रभावित करता है। यह एक स्त्री ग्रह है। कहते हैं कि इसके शुभ प्रभाव के कारण जातक ऐश्वर्य को प्राप्त करता है। पानी में उचित मात्रा में दही और फिटकरी मिलाकर स्नान करें और शरीर पर सुगंधित इत्र लगाएं।

लक्ष्मी की उपासना करें, खीर पीएं और 5 कन्याओं को पिलाएं। महालक्ष्मी मंदिर में कमल का फूल अर्पित करें।


5 दिवसीय त्योहार के लिए हर दिन का सरल उपाय, धन की तंगी है तो जरूर आजमाएं

दीपावली के 5 दिन धन के संकट दूर करने के लिए सबसे शुभ माने गए हैं। अपने मूल उधार को उतारने के पश्चात ही मनुष्य लक्ष्मी को प्राप्त कर सकता है।

धन तेरस के दिन 13 दीपक जलाएं और हर दीपक में एक कौड़ी डाल दें। दीपक पूर्ण हो जाए तब ये कौड़ी लेकर तिजोरी में रख दें।

नरक चतुर्दशी के दिन पवित्रता से पांच प्रकार के पुष्पों की माला में दूर्वा व बिल्वपत्र लगाकर देवी को अर्पित करें। 

दीपावली की रात्रि में ग्यारह बजे के बाद एकाग्रता से बैठकर के नेत्र बंद करके ऐसा ध्यान करें। 108 कमल पुष्प अर्पित करें। ऐसा करने से लक्ष्मी की कृपा होती है।

विष्णु सहस्रनाम या गोपाल सहस्रनाम का पाठ करें तो उत्तम है।

अन्नकूट के दिन भोजन बनाकर देवता के निमित्त मंदिर में, पित्तरों के निमित्त गाय को; क्षेत्रपाल के निमित्त कुत्ते को; ऋषियों के निमित्त ब्राह्मण को; कुल देव के निमित्त पक्षी को; भूतादि के निमित्त भिखारी को दें। साथ में वृक्ष को जल अर्पित करें ।

भाईदूज के दिन प्रातः शुद्ध पवित्र होकर रेशमी धागा गुरु व ईष्ट देव का स्मरण करके धूप दीप के बाद उनके दाहिने हाथ में यह डोरा बांधें।

———————–***********———————–

Krishna Janmashtami 2021
Krishna Janmashtami 2021

जन्माष्टमी 2 दिन क्यों मनाई जाती है?

कृष्ण जन्माष्टमी त्योहार कृष्ण के जन्म का प्रतीक है, जो हिंदुओं द्वारा पूजे जाने वाले सबसे लोकप्रिय देवताओं में से एक है। उनका जन्म 3228 ईसा पूर्व माना जाता है। … यह श्रावण के हिंदू महीने में पड़ता है, जो आम तौर पर अगस्त या सितंबर से मेल खाता है। समारोह दो दिनों में फैले हुए हैं

2021 में जन्माष्टमी की तिथि क्या है?

जन्माष्टमी 2021 भगवान कृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार नजदीक है। इस वर्ष, यह हिंदुओं द्वारा 30 अगस्त को मनाया जाएगा

कृष्ण जयंती कौन सा महीना है?

जन्माष्टमी या गोकुलाष्टमी के रूप में भी जाना जाता है, एक वार्षिक हिंदू त्योहार है जो विष्णु के आठवें अवतार कृष्ण के जन्म का जश्न मनाता है।

———————————**************———————————-

Hindi Best movie BellBottom 1 Review

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , ,